सांप्रदायिकता फैला रहे वसीम रिजवी को जेल भेजे सरकार: शिया धर्म गुरु मोहम्मद मेंहदी


आजमगढ़. शिया वफ्फ बोर्ड (Shia Waqf Board) के चेयरमैन वसीम रिजवी (Syed Waseem Rizvi) द्वारा भगोड़े जाकिर नाइक (Zakir Naik) व जमातियों की एक लाख भारतीयों को मारने की साजिश वाले बयान पर सियासत शुरू हो गयी है. शिया धर्म गुरु सैय्यद मोहम्मद मेंहदी ने वसीम रिजवी के बयान पर सवाल उठाते हुए कहा कि ‘वसीम क्राइम ब्रांच अथवा सीबीआई के डायरेक्टर हैं क्या जो इन्हें इस तरह की जानकारी मिल रही है’. साथ ही उन्हीने तंज कसते हुए यह भी कहा कि ‘उनके बयान से साफ है कि वे साजिशकर्ताओं के संपर्क में है जिसके कारण उन्हें इस तरह की जानकारी मिली है, इसलिए सबसे पहले इन्हें जेल में डालकर इनसे पूछताछ होनी चाहिए’. उन्होंने कहा रिजवी जैसे लोग सांप्रदायिकता की राजनीति कर रहे है और समाज में विद्वेष फैला रहे है.

वक्फ़ की भलाई के बारे में सोचें

शिया धर्म गुरु ने कहा कि राम मंदिर के फैसले के समय भी वसीम रिजवी ने उल्टे सीधे बयान देकर समाज को बांटने का प्रयास किया गया और अब जमातियों के बारे में बयान दिया जा रहा है. उन्होंने वसीम रिजवी को सलाह देते हुए कहा कि ‘वो शिया वक्फ़ बोर्ड के चेयरमैन हैं इसलिए वो वक्फ़ की बात करें और उसकी भलाई के बारे में सोचें यही उनके लिए बेहतर है’. उन्होंने कहा कि रिजवी जितना षडयंत्र यह बता रहे हैं और कह रहे हैं कि जमाती एक लाख लोगों को मारना चाहते हैं तो इस संबंध में उन्हें सुबूत देना चाहिए.

सबसे बड़ी जरूरत कोरोना से निजात पाना

मेंहदी ने कहा कि आज पूरा विश्व कोरोना वायरस (Coronavirus) से जूझ रहा है. हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए कि कोरोना (COVID-19) से निपटा जाए. उन्होंने कहा सजा देना या और कोई भी फैसला लेना सरकार और प्रशासन का काम है वसीम रिजवी का नहीं. उन्होंने कहा कि वसीम रिजवी सांप्रदायिकता की सियासत कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार को रिजवी को भी गिरफ्तार करना चाहिए और उनसे पूछना चाहिए कि जमाती और जाकिर नाइक एक लाख लोगों को मारने की साजिश किए इस बात का उनके पास क्या सुबूत है?

साथ ही उन्होंने मौलाना शाद (Muhammad Saad Kandhalvi) से भी अपील करते हुए कहा कि वे लोगों के सामने आएं और सवालों के जवाब दें. साथ ही उन्होंने कहा कि इस मसले पर राजनीति करने के बजाय कोरोना वायरस से निपटने का तरीका खोजा जाये यही फिलहाल सबसे बड़ी जरुरत है. जनता को इस समस्या से निजात दिलायी जाये चाहे वह जमाती ही क्यों न हो क्योंकि वह भी हमारे देश के नागरिक हैं. बाद में जो भी दोषी हो उस पर कार्यवाही की जाये.

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *